एक घर की चुदाई कहानी 2

गतान्क से आगे………………………………… एक घर की चुदाई कहानी – 1

मैने लंड मा को दिखाते हुए बोला, तो मा ने कहा “बेटा लंड खड़ा रहेगा तो खुजली होगी ही” तो मैं बोला “मा क्या तुम्हारे भी खुजली होती है हां होती है” मा बोली, “क्यो क्या तुम्हारे भी टांका टूट ता है” मैने पूछा तो मा हँसने लगी और बोली “नही हमारे टांका-वांका नही होता है बस छेद होता है मा अब काफ़ी खुल कर बातें करने लगी थी, तो मैने जानबूझ कर अंजान बनते हुए मा की जाँघो के उपर से नाइटी का बटन खोल कर हटा दिया जिससे उनकी कमर के
नीचे का हिस्सा नंगा हो गया, और उनकी बुर को हाथो से छूते हुए कहा “आरएे हान्ं तुम्हारे तो लंड है ही नही लेकिन छेद कहाँ है ये तो बस फूला-फूला दिखाई दे रहा है और इसमे से कुछ बाहर निकल कर लटका भी है”, तो मा तुरंत मेरा हाथ अपनी बुर से हटा कर उसे ढँकते हुए बोली छेद उसके अंदर होता है तो तुम खुजलाती कैसे हो”मैने कहा, तो वो बोली “उसे रगड़ कर और कैसे” तो मैं बोला लेकिन मैने तो तुम्हे कभी अपनी नंगी बुर खोल कर सहलाते हुए नही देखा है
मा खूब तेज हंसते हुए बोली “बुर बुर ये तूने कहाँ से सुना मेरे दोस्त कहते है उनमे से कई तो अपने घर मे नंगे ही रहते है और सब औरतो की बुर देख चुके है” ये सुन कर मा बोली “अच्छा तो ये बात है तभी मैं कहूँ कि तू आज कल क्यूँ ये हरकते कर रहा है मैने हंसते हुए कहा “कौन सी हरकत तो मा मेरे लंड को हाथों से पकड़ कर हल्के से हिलाते हुए बोली “रात वाली और कौन सी जिस के कारण ये हुआ है खुद तो जैसे तैसे कर के सो जाता है और मुझे हर तरफ
से गीला कर देता” तो मैं हँसने लगा और कहा “तुम भी तो मज़े ले रही थी तबतक शायद मा की बुर काफ़ी गीली हो चुकी थी और खुजलाने भी लगी थी क्योकि वो अपने एक हाथ से नाइटी का थोड़ा सा हिस्सा जो केवल उसकी बुर ही ढके हुए था, (क्यों कि बाकी हिस्सा तो मैं पहले ही नंगा कर चुका था), हल्का सा हटा कर बुर से निकले हुए चंदे के पत्तियो को मसल्ने लगी, मा धीमे धीमे हंस रही थी पर कुछ बोली नही मा कितना अच्छा लगता है ना रात वाली हरकत दिन मे भी करे.
देखो ना मेरा लंड कितना फूल गया है और तुम्हारी बुर भी खुज़ला रही है प्लीज़ मुझे दिन मे अपनी बुर देखने दो ना और वैसे भी मैं अभी तो लंड तुम्हारे छेद मे डाल नही पाउन्गा मैने एक हाथ से अपने लंड को सहलाते हुए कहा और दूसरे हाथ से उसकी नंगी जाँघ को सहलाते हुए उसकी बुर के होठों को उंगलियों से खोलने लगा मा भी शायद बहुत गरम हो गयी थी और चुदवाना चाहती थी क्योकि उसने मेरा हाथ इस बार नही हटाया, पर शायद शर्मा रही थी और अचानक बात को
पलट ते हुए बोली अरे कितनी देर हो गयी खाना बनाना है और वैसे ही नाइटी बिना बंद किए हुए उठ कर किचन मे चली गयी, मैं भी तुरंत मा के पीछे-पीछे किचन मे चला गया और मैने देखा कि नाइटी का सिर्फ़ एक दो बटन ही बंद था बाकी सारा खुला हुआ था जिस के कारण उसकी चुचियाँ बाहर निकली हुई थी और नाभि से नीचे का पूरा हिस्सा पैरों तक एकदम नंगा दिख रहा थी मैं उन्हे पीछे से पकड़ कर चिपक गया जिससे मेरा लंड मा के चूतरों के बीच मे घुस
गया और बोला “मा तुम बहुत अच्छी हो” मेरे दोनो हाथ मा के नंगे पेट पर थे, मा बोली “अच्छ मुझे मस्का लगा रहा है” तो मैं हँसने लगा और धीरे धीरे अपना हाथ मा के पेट को सहलाते हुए निचले हिस्से की ओर ले जाने लगा, मा की साँसे तेज़ चल रही थी पर बोली नही, तो मेरी हिम्मत और बढ़ी और मैं ने अपना हाथ मा की बुर के उपर हल्के से रख दिया और उंगलियो से उनकी बुर हल्के हल्के दबाने लगा, पर मा फिर भी कुछ नही बोली,
मेरा लंड उत्तेजना की वज़ह से पूरा तना हुआ था, और मा की गांद मे घुसने की कोशिश कर रहा था, मा की बुर की चिकनाई मुझे महसूस होरही थी और चिकना पानी उसकी बुर से निकल कर जांघों पर बह रहा था, मैं उंगलियो को और नीचे की तरफ करता जा रहा था, तभी मेरी उंगलिया मा की बुर की पुट्तियों के टच करने लगा, मा बोली “तू बहुत बदमाशी कर रहा है” पर मैं बिना कुछ बोले लगा रहा और फिर एक हाथ से धीरे धीरे उसकी बुर के लटकते हुए चमड़े को सहलाने और
फैलाने लगा जब मैने देखा कि मा मना नही कर रही है तो मैं धीरे से दूसरे हाथ से मा की नाइटी को मा की कमर के पीछे कर दिया जिससे मा पेट के नीचे से एकदम नंगी हो गयी, मैं उत्तेजना के मारे पागल हो रहा था, मेरे लंड का सूपड़ा मा की नंगी चुतरो की फांकों मे धँस गया, फिर मैं की बुर से निकले लंबे चमड़े को फैला कर बुर के छेद मे उंगली डालने की कोशिस करने लगा, मा ने काम करना बंद कर दिया,
उनकी बुर से चिकने पानी की बूंदे टपकने लगी थी, मा भी अब मेरा साथ दे रही थी और नाइटी का बाकी बटन खोल दिया जिससे नाइटी नीचे गिर गई, अब मा और मैं पूरी तरह नंगे हो गये थे मैं पीछे से हट कर मा के सामने आ गया और मोढ़े पर बैठ कर मा की बुर को फैलाते हुए उनके बुर से बाहर लटकते हुए चमड़े को मूह मे भर लिया और चूसने लगा, मा ने मेरा सर पकड़ कर अपनी बुर से और सटा दिया उनके मूह से ओह्ह्ह आह की आवाज़े निकल रही थी,
मैने अपनी जीभ मा की बुर मे डाल दी और उन्हे तेज़ी से अंदर बाहर करने लगा, उनकी बुर का सारा नमकीन पानी मेरे मूह मे भर गया, मा ने भी मस्त हो कर अपनी जाँघो को और फैला दिया और कमर हिला-हिला कर बुर चटवाने लगी, कुछ ही देर मे मा मेरे मूह को जाँघो से दबाते हुए झर गयी पर मेरा लंड और ज़यादा तन गया था तभी मा मुझे खड़ा करते हुए खुद मोढ़े पर बैठ गयी और नीचे गिरी हुई नाइटी से मेरे सूपदे को पोछ कर मेरा सूपड़ा अपने मूह मे
भर लिया और मेरे चूतरो को अपने दोनो हाथों से दबाते हुए चूसने लगा और एक उंगली मेरी गांद के छेद मे डालने लगी, मैं तो जैसे सपनो की दुनिया मे पहुँच गया था, मा ज़ोर ज़ोर से मेरा लंड चूस रही थी और मैं भी लंड को उसके मूह मे अंदर बाहर कर रहा था, तभी मैने अपना कंट्रोल खो दिया और ओह्ह करते हुए मा के मूह मे ही झरने लगा, मा मेरे सूपदे को तब तक अपने मूह मे लिए रही जब तक मेरा वीर्य निकलना बंद नही हो गया,
हम दोनो कुछ देर तक वैसे ही बैठे रहे, फिर मा मुझ से प्यार करते हुए बोली “तूने आख़िर अपनी मनमानी कर ही ली” तो मैं बोला तुम्हे अच्छा लगा ना तो मा हँसने लगी और चाइ बनाने लगी, चाइ पीकर मैं किचन से बाहर आ गया और मा नंगी ही खाना बनाने लगी, फिर उसके बाद कुछ नही हुआ, दोपहर मे खाना खाते समय मा मेरे लंड को देखते हुए बोली “अभी वीनू के आने का टाइम हो गया है, आब तू लूँगी लप्पेट ले वरना वीनू को अटपटा लगेगा, रात मे सोते वक़्त
बेड पर फिर से लूँगी उतार कर नंगे सो जाना” हम दोनो उस समय तक नंगे ही बैठे थे, मैने मा से कहा कि “मा कपड़े पहनने का मन नही कर रहा है, अब तो घर मे नंगा ही रहूँगा, अब तो दीदी को भी नंगे ही रहने के लिए कहो लेकिन कैसे” मा बोली, तो मैं बोला “मुझे नही पता पर अब मैं नंगा ही रहूँगा और तुम भी नंगी रहो” मा बोली “ठीक है पर अभी तो कुछ पहन लो
फिर मैं लूँगी लप्पेट कर टीवी देखने लगा और मा भी नाइटी पहन कर काम करने लगी, जब दोपहर मे वीनू आई तो मुझे लूँगी मे बैठे देख कर मा से धीमी आवाज़ मे बाते करने लगी, और मैं मन ही मन उन दोनो को एक ही बिस्तर पर चोद्ने का प्लान बना रहा था. रात को मैं पूरा प्लान बना कर लूँगी उतार कर मा का इंतजार करने लगा, , कुछ देर बाद मा कमरे मे आई और दरवाजा बंद कर दिया फिर काम ख़तम करने के बाद बिना लाइट ऑफ किए नंगी हो कर बेड पर
लेट गई और मेरी तरफ करवट कर के मुझ से पूछा अब कैसा है मैं तो पहले से ही तैयार था तुरंत बात को पकड़ते हुए पूछा क्या वही” मा बोली, मैने कहा वही क्या इसका कोई नाम नही है क्या” “अच्छा बड़ा चतुर हो गया है तुझे नही पता क्या” और हँसने लगी, मैं बोला मुझे तो दोस्तो ने बताया है पर तुम सही नाम बताओ ना अच्छा पहले सुनू तो तेरे दोस्तो ने क्या बताया है मैने कहा लंड” ये सुनते ही मा की ज़ोर से हँसी छूट गई,
मैने मा के जाँघो को फैलाते हुए उनकी बुर की पुट्तियों को सहलाने लगा और पूछा “अच्छा ये बताओ ये जो तुम्हारी बुर से बाहर चमड़ा निकला है इसका क्या कहते है” तो मा बोली “तेरे दोस्त क्या कहते है” तो मैने कहा “छोड़ो ना दोस्तो को तुम बताओ इसे क्या कहते है तो मा ने कहा कुछ भी कह ले पट्टी पंखुड़ी पुट्ती तुझे अच्छी लगती है तो मैने कहा “हां अच्छा ये बताओ जब मैं तुम्हारी गांद मे लंड डाल रहा था तो दर्द होते ही तुमने मुझे मना क्यो नही किया
तो मा ने कहा “मुझे भी गांद मरवाने का मन कर रहा था” मैने आश्चर्या से पूछा क्या तो मा ने कहा “हां मेरी गाओं मे मेरे पड़ोस की चाची और उनकी लड़की जो एक दूर के रिश्तेदारी मे मेरी चाची और चचेरी बहन लगती थी, उसने बताया कि शादी के बाद उन्हे चुदाई के बारे मे ज़्यादा नही मालूम था, और उसका पति उसकी गांद मे ही अपना लंड पेलता था, बाद मे मेरी चाची यानी उसकी मा जो खुद भी बहुत चुड़दकड़ थी, उसने अपनी बेटी और दामाद को चुदाई
के बारे मे बताया, अब अक्सर वो सब साथ मे चुदाई और गांद मरवाने का मज़ा लेते है, उसी ने मुझे गांद मे लंड लेने का तरीका और मज़े के बारे मे बताया था उसकी दो लड़कियाँ है, जब तू बड़ा होगा तो मैं तेरी शादी उसी की बड़ी लड़की से करवाउंगी फिर हम सब भी साथ मे मज़े लेंगे अच्छा अब ये बता कि वीनू को कैसे पटाया जाए अब तो मैं भी एक भी दिन बिना तेरे लंड के नही रह सकती हूँ अब तो जब तक मेरी गांद मे तेरा लंड ना जाए मज़ा नही आए गा एक बार वीनू
पट जाए तो फिर तो मैं दिन भर गांद मरवाती और चुद्वाती रहूंगी उसके बाद तू चाहे तो तो वीनू को भी चोद लें फिर उसे भी अपनी बुर हाथ से नही रगरनी पड़ेगी तो मैं बोला “मैं जैसा कहता हूँ वैसा ही करती रहना वो अपने आप खुल जाएगी वैसे भी वो तुमसे ओपन्ली बाते करती ही है ना चुद्ने भी लग जाएगी तो मा ने कहा कि “हां हम ओपन तो है पर कभी चुदाई की बाते नही की है” तो मैने कहा कि “अच्छा कितना ओपन हो” तो मा मेरे लंड को सहलाते हुए बोली “पहले तो सिर्फ़
MC के समय पैड लगाने तक पर अब तो हम दोनो एक दूसरे के सामने नंगे ही कपड़े बदल लेते है कभी कभी मैं उससे बाल सॉफ करने वाली क्रीम माँग लेती हूँ झांतो को सॉफ करने के लिए मैं बाथरूम मे बुर पर क्रीम नही लगा पाती हूँ और कमरे मे लगाती हूँ तो वो कई बार देख चुकी है हम दोनो का एक दूसरे की बुर देखना नॉर्मल है कई बार जब वो खेल कर आती है और थकि होती है तो मैं उसकी मालिश कर देती हूँ वो भी उसे नंगा करके उसके जाँघो और चूतरो पर
भी उस समय मेरे हाथ उसकी बुर और गंद के छेद को भी छूते और मसल्ते है और वो भी कभी कभी मेरी मालिश करती है नंगा करके हां कभी-कभी जब मालिश के समय मेरी बुर खुजलाती है तो उसी के सामने मैं बुर मे उंगली करती थी तो उस समय उसने मुझे देखा है और मुझे ये भी पता है कि वो भी अपनी बुर मे उंगली डाल कर झड़ती है ना तो उसने कभी मुझे झाड़ा है और ना ही मैने बस हम दोनो को ये जानते है कि हम दोनो बुर मे उंगली करते है पर
चाची और बहन की तरह बुर या गन्ड चटवाना या चुदाई की बाते नही की है तो मैने कहा “इतना काफ़ी है” और मैने अपना सारा प्लान मा को बता दिया, अगले दिन सुबह प्लान के मुताबिक मैं लूँगी पहन कर बाहर गया तो देखा मा और दीदी बाते कर रही थी, मुझे देख कर मा ने दीदी से कहा “जा भाई के लिए चाइ ले आ” तो दीदी किचन मे चली गई, मैं मा के सामने अपनी लूँगी थोड़ा फैला कर ऐसे बैठा कि दीदी को पता चल जाए कि मैं मा को अपना लंड दिखा रहा हूँ पर
दीदी को मेरा लंड ना दिखाई दे, जैसे ही दीदी आई तो मैने मा को इशारा करते हुए अपनी जाँघो को बंद कर लिया, दीदी कभी मुझे और कभी मा को देखती पर वो समझ गयी थी कि मा मेरा लंड देख रही थी चाइ पीने के बाद मैने जानबूझ कर अपना लंड हाथ से पकड़ कर जिससे दीदी की जिग्यसा बढ़ जाए मा से कहा “मैं फ्रेश होने जा रहा हूँ चलो तो मा दीदी की तरफ देख कर बोली “हां चल मुझे भी पेशाब लगी है और देख भी लूँगी फिर बाथरूम मे आने के बाद मैं
उसके बाद कुछ नही हुआ, इस तरह 2-3 दिन बीत गये और हम लोग इसी तरह दीदी को उत्तेजित करते रहे, एक दिन दोपहर मे खाना खाने के बाद प्लान के मुताबिक मैं कमरे मे आकर लूँगी से अपना लंड बाहर निकाल कर सोने का नाटक करने लगा, थोरी देर मे मा भी आ गई और अलमारी खोल कर वही ज़मीन पर बैठ गई, और कपड़े सही करने लगी थोरी देर मे दीदी कमरे मे आई और मा के पास ही बैठ गई और बाते करने लगी तभी दीदी की नज़र मेरे लंड पर पड़ी तो वो चौंक कर मा
से बोली कि “मा देखो भाई कैसे सो रहा है और उसके सूसू पे क्या हुआ है तो मा ने मेरी तरफ देखते हुए कहा कि “हां उसके सूसू मे रगड़ लगने की वजह से छिल गया है मैने ही क्रीम लगा कर खुला रखने को कहा है” तो दीदी बोली “वहाँ पे कैसे रगड़ लग गई जो इतना छिल गया”
तो मा हुंस्ते हुए बोली मुझे क्या पता तो दीदी भी हंसते हुए बोली “अच्छा तो इसने ज़रूर वो ही किया होगा” मा बोली अच्छा तुझे कैसे पता, तू भी करती है क्या तो दीदी हँसने लगी, क्रमशः………………………….

यह कहानी भी पड़े  बहु के साथ सोकर चुदाई की

Pages: 1 2 3 4

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


घर में सेल्समैन ने चोदा स्टोरी कहानीSalma antarvasna बहन को चोदा भाई ने मराठीxxx saxyहिदी।चोदाई।चाहीchacheri bua ki chut Mari khet mai नँगी सेकसी पेटी कोटो फोटो फेसबुकशादी की भीड़ में चाचा से छुड़वाई करवाई अन्तर्वासनासेक्सी स्टोरी हिंदी दादाजी ने छोड़ाrahar ke khet me chachi ki chudai kahaniसर्दी में सेक्स के मजेपापा के बॉस को अपनी जवानी दिखाXxx.nngifoto.daचूत लंड की सहरी मां दादीमाझी खाज सेक्स स्टोरीमा बोली बेटी मेरे मुह मे मूत दोकंडोम लगा के चुदी गन्ने मेंसर्दी की सेक्सी कहानीबाप के साथ सुहागरात मनाईodiabhabisixeऔलाद के लिए चुदवाईसफर मे चूदाई फिल्मेSafhed livash exbii storyBahu ka bhosra sas ki chudai ka majakhait mai bur chudai kahaniaaदर्द से तड़पती आंटी सेक्सी मूवीसबरसात me moshi ki cudaai sexy storyसेकसी खुबसुरत लडकियो का देवर के व नौकर के साथ व आनटी के साथ व बहन के साथ सेकसि चुदाई की हिनदी कहानीमाँ को नहाते देखा सेकसी कहानी हिन्दी में लिखिए:mom ljkahaniXxxx Gehu Ke Khet ma bhabhi sexy video hindihttps://psylon.ru/sotovyj-operator/nurse-ne-chud-kar-mere-lund-ka-checkup-kiya/2/रंजना का बुर का सिलतोड कहानीwww barrezesh xxxbhabhe ni apani divar si choduayaभिखारी NE चाची ki chudaiमुस्लिम सेक्सी कहानियाँ राज शर्माmosi ke chakkar me ma chudi storyहिन्दी अंतरवसना सेक्सी फोटो कहानी सिस्टर जबरदस्त छोडा ब्लैक मेल कर मालिश माँ सेक्सी वीडियोसmammi ko hum sabane milke chodaसास की गांड़ मारी जवाई ने सेक्स स्टोरीmaa ne dilwaya papa ka lund porn khaniCudhai owarat ki lalacha ki kahaniएक अनूठा रिश्ता की चुदाई कहानीदोग्गी सेक्सक्स videoChudakar ghodhiyaलम्बी चूदाई कहानियां 2019 फैमिलीचाची की गाँड मे लड बजा बजा कर फैलाईantarvasna urojअन्तर्वासना हिंदी ट्रैन मRajsharmasex.comदीदी की सासु माँ को लंड चूस रहा था सेक्स स्टोरीsasur boob massage story sex hindi meXXX बड़े चुतड़ो की राज शर्मा की कहानियाँantrvaasna bhabhi ko कपडे बदलते देखाराजस्थानी रंडी की चुदाई हिंदी में बात चीत कॉमhindi sexy kahaniसेकसी चुत लडjanvaro se mangi chudai ki bhikh sex storychodai ki taklif kahaniनदी के किनारे नोकर और ड्राईवर ने चोदा part 2Xxxcom रिश्तेदारTantric बाबा और biwi सेक्स storyबूर मे पेलने वाला बहुत सारे फोटो आ जाये गनदे गनदे hindisexstory motisethani की चुदाईअन्तर्वासना लिपस्टिक स्टोरी नईpappih saxy vidiohttps://otkrivashki.ru/teatroporno/sasur-bahu-ka-milan-3/5/maa ne bete ka lund apne chut me atka kr puri rat chudai kiमाँ के देहांत बाद बचपन से मौसी लंड की तेल मालीश करती चुदाई की कहानीयाभाई ने गांड मारी सेक्स कहानीJija Ji ko harakar didi ko choda sex stori hindiAntar vasna sex storisकामवालि ने कई घरों की औरतों को चोदवायाभावना की चुदाईmose.boli.tera.land.cibratachudvaya sfr memaa ne dilwaya papa ka lund porn khaniBachpan mai kaamwali or bhabhi ko sex storynokrani aunty sex Kahani in Hindi sexbab.comमम्मी ताऊ का काला लंड फोटोTwo sister aapas me hastmethun ki sexy kahaiyamosi aor unke bcche sexy storyतेरी ननद को चाहिए मोटा लंडफचा फच चोदा चोदी