बस में मिला एक नौजवान के साथ कामुकता

मैं: ‘पागल हो क्या’!

यह कह कर मैंने मोबाइल काट दिया.

जब मैंने मोबाइल बिस्तर पर फेका तब तक मैं इतनी गीली हो चुकी थी की अनायास मेरा हाथ चूत पर चला गया और उसी हालत में मेरी उसकी हुयी बात को याद करते हुये मैं मास्टरबेट करने लगी. मेरी उंगलियां मेरी गीली चूत के अंदर बहार हो रही थी और मैं अपनी क्लिट को भी बेरहमी से रगड़ रही थी. मैं लड़के की हिम्मत के बारे में सोंच रही थी, जो मुझसे २० साल छोटा था लेकिन बड़े अधिकार से मुझ से बिना पैंटी के साडी पहनने के लिए कह रहा था ताकि वोह भरी बस में खुले आम मेरे चूतरो से और मस्ती ले सके. सेक्स की इस असीम चाहत से मैं रोमांचित हो उठी और मेरी चूत ने पानी छोड़ दिया. मैं बिस्तर पर पड़े पड़े उसी के बारे में और उससे हुयी बातो के बारे में सोचती रही. मैंने उसका नंबर अपने मोबाइल में, एक लड़की के नाम सेव कर लिया. तब मुझे ध्यान आया की अभी तक न मैंने अपना नाम उसे बताया था न उसने ही अपना नाम मुझे बताया था.

अगले दिन जब मैं अपनी बेटी को छोड़ने के लिए तैयार हुयी तब मुझे कल वाली उसकी बात ध्यान में आयी. मैंने शीशे में अपने आपको घूरा और मैंने अपनी साडी पेटीकोट उठा कर एक झटके में पैंटी उतार दी. मैं जब बाहर निकली तो बिना पैंटी के मुझे बड़ा अजीब लग रहा था. लग रहा था मेरी चूत भरे बाज़ार नंगी होगयी है और मेरी झांघो के बीच वोह रगड़ी जा रही है.मैं अंदर ही अंदर बहुत उतेजित भी थी और सोंच भी रही थी, हे भगवान! मैं यह क्या कर रही हूँ! वह भी एक २० साल के प्रेमी के लिए! मैं जब बस स्टॉप पर पहुँची वह लड़का वहाँ पहले से ही खड़ा था. उसने जीन्स और टी शर्ट पहने हुयी थी, हमारी आँखे मिली और हमने नज़र घुमा ली, जैसे हम दोनों एक दुसरे को नहीं जानते .

हमेशा की तरह मैं हैंडल पकड़ कर खड़ी होगयी और वोह लड़का धक्का देता हुआ ठीक मेरे पीछे आकर खड़ा होगया. उसने फ़ौरन मेरी कमर के नीचे हाथ रख कर मेरी पैंटी को महसूस करने की कोशिश की. जब उसको इसका एहसास हो गया की आज मैंने उसके कहने पर पैंटी नहीं पहनी है तब उसने मेरे चूतरो को थप थपा दिया, जैसे वोह मुझे धन्यवाद दे रहा हो. बिना पैंटी के जब उसके हाथ मेरे चूतरो के ऊपर पड़े मैं बिना दांत भीचे नहीं रह पायी. आज पहली बार उसके उद्वेलित हाथो की गर्मी मेरे चूतरो पर सिर्फ साडी के ऊपर से महसूस कर रही थी. मैंने थोड़े पैर और फैला दिया और जैस मुझे उम्मीद थी उसका कड़ा लंड मेरे चूतरो की दरार से रगड़ खाने लगा. आज वह अपना लंड वही रगड़ रहा था और मेरे चूतरो को मसल भी रहा था,मैं बिलकुल अलग दुनिया में पहुँच गयी थी, उस भीड़ भरी बस में मैं वासना के उस सागर का सुख ले रही थी जो मेरी शादी के १८ साल बाद भी अभी तक मुझसे महरूम था. पुरे रास्ते उसका लंड मेरे चूतरो पर रगड़ता रहा और मेरी चूत भी आज कुछ ज्यादा गीली हो गयी थी. आज मैं पैंटी नहीं पहने थी , मेरी चूत का पानी बहकर मेरी जांघो पर आगया था. जब उसका स्टॉप आया वोह उतरने के लिए आगे आया और जाते जाते धीरे से मुझे ‘थैंक्स , कॉल मी’ कहते हुये आगे बढ़ गया. मैं मूर्ति की तरह वैसे ही वैसे खड़ी रही.

यह कहानी भी पड़े  एक नयेपन का अहसास

मैं जैसे तैसे घर पहुँची और घुसते ही रुमाल से मैंने अपनी बहती हुयी चूत को पोंछा और उसको मोबाइल लगा दिया.

वोह: ‘हाय दिलरुबा!’

मैं: ‘हम्म्म’.

वोह: ‘थैंक्स, मेरी इच्छा पूरी करने के लिए’.

मैं: ‘ हाँ, मैं बच्चो को निराश नहीं करती’.

यह कह कर हॅसने लगी और वह भी हॅसने लगा.

वोह: ‘हम कब मिल सकते है?’

मैं चुप हो गयी. मिलने की इच्छा मुझे भी होने लगी थी और मन मानने लगा था की उससे मिलने में कोई बुराई और खतरा नहीं है. लेकिन परेशानी थी की मैं उससे कहाँ मिल सकती हूँ?

मैं: ‘मुझको नहीं पता. कोई ऐसी जगह नहीं समझ में आती जहाँ मैं तुमसे मिल सकू’.

वोह: ‘मैं आपको अपने घर नहीं ले जा सकता, मेरी माँ हमेशा घर रहती है. आपका घर कैसा रहेगा?’

मैं: ‘मेरा घर?’

उसने जब मेरे घर की बात की तब मैं सोचने लगी की बात सो सही है, मेरी नौकरानी १२ बजे चली जाती थी और ४ बजे मैं अपनी बेटी को लेने स्कूल के लिए निकलती थी. १२ से ४ के बीच मैं घर पर बिलकुल ही अकेली रहती थी. मैंने बिना हिचके उसको १२:३० बजे का समय दे दिया और अपने मकान का पता बता दिया.

अगले दिन वह बस स्टॉप पर नहीं दिखा , मैं घर ऑटो रिक्शॉ पकड़ कर जल्दी आगयी. नौकरानी को भी मैंने जल्दी कम ख़तम करने को कहा और १२ से पहले ही उसे भी घर के बाहर कर के दरवाज़ा बंद कर दिया. उसके जेन के बाद मैं बिलकुल एक कामातुर प्रेमिका की तरह कपडे निकलने लगी. मैंने अब स्लीवलेस काले रंग का ब्लाउज पहन लिया जिसकी बैक खुली थी और उसके साथ सफ़ेद रंग की साडी जिस पर काले पोल्का डॉट पड़े थे पहन ली. बड़ी अजीब बात थी, यह साडी मेरे पति की पसंदीदा साडी थी , जो उन्होंने मुझे शादी की १५ वीं वर्ष गांठ पर दी थी. जब मैंने पहली बार इस साडी को पहना तो उन्होंने मुझसे कहा था, की मैं बहुत सेक्सी लग रही हूँ और उन्होने वही साडी उठा कर मुझे जल्दी से चोदा और उसके बाद ही हम लोग बाहर खाने पर गए थे. मैंने साडी पहन कर अपने आप को शीशे में निहारा और अपने पर रश्क कर बैठी, मैं आज भी इस साडी में बहुत सुन्दर और सेक्सी लग रही थी.मैं अपने को निहार ही रही थी कि तभी बाहर दरवाज़े पर घंटी बजी. मैं एक बार ठिठकी , एक बार और अपने को देखा और फिर दरवाजा खोलने चली गई.

यह कहानी भी पड़े  चाची ने अपने पति से मेरा कौमौर्य तुड़वाया

Pages: 1 2 3 4 5 6 7 8

Comments 4

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


चुदवाने वाली भाभीantarvsana storiesबावप हिन्दी सेक्सी फिल्मचाची चुतरिया दीदी की चुड़ै नींद में कहानियाँChuchi ko rang se hara kar diamom ke liye bra kharidi sex storyhttps://otkrivashki.ru/teatroporno/bhaiya-se-apni-chudai-karai-6/मां बहेन बहु बुआ आन्टी दीदी भाभी ने खेत में सलवार खोलकर परिवार में पेशाब पिलाने की सेक्सी कहानियांदूकान वाली की चुदाई की काहानीयाbuasexkahanicar se safar me sex storyantarvasna tai giftrajsarma sex stori chota bachhaगैर मर्द से पति ने चुदवा दिया की हिंदी कहानियांanyar vashna mamu bhanjiमैने अपनी बुर चुदवाई साया फाड केदीदी की बड़ी गान्ड जालीदार पेंटी मेंभीगी सलवार xxx रिश्तो में कहानी नोकरनी भू रप सेक्स क्सक्सक्स स्टोरी हिंदीpyasihi bahvi xxx vidio .comantravsna didi छत परindain sex satorisexstoryseemaaWasna se hua sex antarvasna storiesपरिवार में हगते मूतते गंदी चुदाई की कहानीआंटी की सलवार चुदाई कथाhttps://otkrivashki.ru/teatroporno/park-wali-bhabhi-ke-sath-car-sex/चुदाई लड़की काsex hindi didi bra chut kmuktaसफर सेक्स स्टोरीchoudashi haus waif .comMay chikhti wo chodta raha hindi kahaniyaमेरी प्यारी मस्त दीदीपिया पति सेक बिबि विडिओSomyadidi ko sex kya Hindi storyसेक्स बाबा नेट की हमारी वासना चुड़ै स्टोरी इन हिंदीमेरी ममी ने मुझेचूत दीखाईOyo room me nokarani se xxxबिलू प्यारे प्यारी की चुदाई सुहागरातचूत फडवाई बरसात मे हाँस्टलmuslimsexykahanianचुदगई बोस की बीबीब्वायफ्रेंड का लंड.comबडो की सेक्स कहानियाँsheela ki sasurji se chudai sex storiesbua ki rajai m chudaiआंटी कमर के लडके चुदवाईcchote larke ko बोल ke लालच से भाभी ne सेक्स क्या हिंदी कहानीछोटी बेहन को चुदाई सीखाई कहानीRajsarna.sexy storesटट्टी सेक्स स्टोरीज कॉमma bate kisecy kshaniबहन ने भाई से जबरदसती खेतो मे चुदवायाफौजी भाई ने जम कर मेरी कुवारी चुत को बजायाmumm ko train me god me bitha kr sab ke samne choda sex storiesचाची को चोदा सेक्स स्टोरीनदी किनारे चूत पुकारेmausi ke chakkar me bete ne ki ma ki chudai real khaniyaChoda tela laga ki chodiwww hindi sex stoyarasलाड बुरा मे डालोबीवी की अदला बदली चूदाई मस्त राम चूदाई कहानियाँxnxx Hindhi mai 23Www anatrvasna make sath cudai fon peसेक्स सेठनी और पड़ोसी अंकल बहन को चोदा भाई ने मराठीxxx saxyभाभी को मुहँ दीखाई मे लंड का गीफ्ट दिया कहानीtaiji ki chudai viagra khila ke Videshi ladki ki gaand chaati aur shit khai storyXXX didi ki chudai in divalisex storyroleplay करके biwi ki chudaibhabhi ne cudvane se mana kiya sexistori Hindifuddi ch woshroom niklyहिंदी में लैपटॉप पर बातें करते हुए भाई और बहन की चुदाई की सेक्सी कहानीसब ने चोदा गालिया देकरtruck me gangbang chudai sexy storybehan Bani birthday gift sex stories hindiमाँ को रेलगाडी मे चोदा